महात्मा गाँधी जयन्ती

महात्मा गाँधी जयन्ती कियु मनाई जाती है
महात्मा गाँधी जयन्ती  2 अक्टुबर को बनाई जाती है और  साथ ही इस दिन को बहुत ज्यादा   याद किया जाता है महात्मा गाँधी जी को जो की पुरे भारत देश में याद किया जाता है और पुरे भारत में मोन वर्त रखा  जाता है उनकी याद में                                                                                                                                                              महात्मा गाँधी जी का जीवन का परिचिये > महात्मा  गाँधी जी का जन्म 2 अक्टुम्बर 1869 में गुजरात के पोरबंदर में हुआ था गाँधी जी एक अहिंशा वादी व्यक्ति थे और उन्होंने  जीवन में बहुत सारे काम किये जो  की पुरे भारत में जागरूकता के  लिए जनता को परचित किया और इनका पूरा नाम [मोहनदास करमचन्द गाँधी  जी ]था  मर्त्यु 30 जनवरी 1948 को हुई थी  इन्हे देश के राष्ट्र पिता के नाम से  भी जानते है   महात्मा गाँधी जी के माता पिता का नाम पुतली बाई  कर्म चन्द गांधी है और उनकी पत्नी का नाम कस्तूरबा गाँधी था   वहे एक साधरण व्यक्ति की तरहे अपना जीवन व्यापन किया  देश के लिए उन्होंने इंग्लैंड जाकर अपनी पढ़ाई  की थी और फिर गाँधी जी ने अफ्रीका में जाकर  नौकरी भी की थी लेकिन  उधर काले  गोरे  का भेद चल रहा था जिस के कारण इसका शिकार गाँधी जी पर भी हुआ था जब गाँधी जी भारत लोटे तब भारत कई  कठिनाइयों से गुजररहा था साथ ही ब्रिटिश सरकार  ने किसानो  पर अतियाचार  करने लगे भारत  आकर   गाँधी जी ने गरीब किसान की आवाज उठाने के लिए अंग्रेजो की हुकूमत  नहीं मानने का निर्णय लिया  था                                     <महात्मा गाँधी जी की लड़ाई >      महात्मा गाँधी जी की  लड़ाई आजादी  की  लड़ाई थी  व्हे देश को आजाद करने के लिए बहुत सारे कठिन परिश्रम करने लगे और साथ ही उन्होंने बहुत सारे नारे वे देश  के लिए कहि आंदोलन की शरुआत   करने लगे थे 
 <  महात्मा गाँधी जी  के आंदोलन > 1  जलिया वाला हत्या कांड   की  शरुआत 13  अप्रेल 1919 को पंजाब के अमरत्सर में थी जब  महा सभा  हो रही थी  तब अंग्रेज जनरल रेजीनॉल्ड   सिपाईयों को भरी महासभा में गोली बारी  कर  दी   थी  और  भग दढ़ हुई जिसके कारण  कई  लोग मारे  गहे  थे जिसके कारण कई  गरीब लोग भी मारे  गए थे  इसलिए इसे जलिया वाला हत्या कांड के नाम  से  जाना जाता है                                             <भारत छोड़ो आंदोलन >   इस आंदोलन  शरुआत जब दितीये विश्व  युद्ध  हो रहा था उस वक्त भारत छोड़ो आंदोलन की शरुआत   हो चुकी थी 19  अगस्त 1942 भारत छोड़ो आंदोलन   की  शरुआत  कर  दी गयी  थी  उस वक्त भारत की ज़नता   भी जाग  उठी थी और उस वक्त ब्रिटिश सेना युद्ध में लगी हुई थी  जब सुभाष  चंदरबोस ने  हिन्द फौज के साथ दिल्ली चलो का  ऐलान  किया था और उस वक्त गाँधी जो को ब्रिटिश सरकार  ने गिरफ्तार कर  लिया था                                                                                                                              > देश  व्यापी असहयोग  आंदोलन > 2 दूसरा बड़ा  आंदोलन  था इसकी शरुआत  1 अगस्त 1920 को हुई  थी इसमें अपना सवदेश अपनाओ का नारा  दिया था जिसमे डांडी यात्रा  निकाली और नमक कानून तोड़ो की  शुरुआत   हुई थी 
    < आजादी का दिन >1947 जब भारत आजाद हो रहा था और हिंदुस्तान  और पाकिस्तान   दो हिसो में बंट  रहा था और बाद  में पाकिस्तान  और भारत को  अलग देश बनाने का निर्णय  लिया था जो की ऎतिहासिक बहुत बड़ा  फैसला लिया था 14  अगस्त रात्रि को पाकिस्तान आजाद हुआ था  दूसरे दिन  15 अगस्त 1947  को भारत आजाद  हुआ था                                                                                                                                                                                                                                                                                                                <  गाँधी जी का योगदान > उनका  देश के   लिए बहुत बड़ा  योगदान रहा है  क्युकी गाँधी जी एक राष्ट्र पिता   के नाम से भी जाने जाते है उन्होंने  आजादी  के लिए   बहुत कठिनाइयाँ  का सामना करना पड़ा    और इसमें सभी  ज़नता का बड़ा  योगदान था

No comments:

Post a Comment