गणपति बाप्पा मोरिया

हैप्पी गणेश  चतुर्थी  हिन्दू धर्म के अनुसार प्रमुख त्योहार के रूप में मनाया जाता है साथ ही गणेश  के रूप में विनायक जी का रूप में माना  जाता है गणेश  चतुर्थी पुरे भारत में धूम धाम से त्योहार के रूप में मनाया  जाता है साथ  ही कई इनकी मूर्ति विराजमान की जाती है  हिन्दू धर्म में कही देवी देवताए है                                                                             भगवान श्री गणेश को बहुत मानते है    गणेश जी का यहे  रूप देख्र कर बच्चे बहुत खुशः होते है साथ उनकी  कहानीयो को  सुनकर बच्चो  को आनद  आता है क्योकि बच्चे गणेश भगवान को  बहुत प्र्रेम  करते है श्री गणेश जो की शिव जी के और पारवती के सबसे पहले पुत्र   है और यह भगवान बड़े अच्छे  स्भाव के है ;भगवान शिव जी के दो  पुत्र   थे एक गणेश जी और कार्तिक है                                                                         २ भाइयो की कहानी। . गणेश जी और कार्तिक जी एक वक्त आया देवी देवताओ के जब कोई संकट आया तब शिवः  जी के पास पहुंचे देवी देवताए ने कहा  हमारी मदद करो तभी भगवान शिव  जी ने भगवान गणेश जी को और कार्तिक से कहा जो पृथ्वी के साथ चक्रर लगाकर पहले आएगा उसे शफ़ल  मौका दिया जाएगा व्ही देवी देवताओ की मदद करेगा ;तभी भगवान कार्तिक व्हे श्री गणेश  2 नो भगवान आज्ञा का पालन करते हुए तैयार होगये साथ ही कार्तिक ने अपना मोर लेकर पृथ्वी चकर  लगाने के लिए उड़ान  भर दी साथ ही गणेश जी अपने माता पिता एक जगह खड़ा   करके उनके साथ चकर लगाकर अपनी जगह वापस खड़े होगये थोड़ी देर बाद में कार्तिक आये तब भगवान शिव जी ने श्री गणेश जी से पहुंचा की तुम क्यों  नहीं गए तब श्री गणेश ने बड़े प्रेम से कहा  माता पिता के चारोओर संसार  बसा  है तो मेने आप के चकर लगा  लिए तभी शिव जी खुश होकर बोले और आशीर्वाद दिया और कहने लगे श्री गणेश जी का जो बी पूजा व्रत करेगा उनका सारा दुख  धुर होगा और सुख  मिलेगा                                                                                                                                                                      भारत देश में मुख्य तौर पर सभी जगह श्री गंणेश  भगवान का त्योहार मुख्य रूप से धूम धाम से बनाया जाता है साथ भारत देश के बड़े बड़े शेहरो में गणपति का प्रोग्राम बड़ा ही अच्छा देख़ने को मिलता है इनकी प्रक्रिया 10दिन  तक रखा  जाता है साथ  ही इन की 10 दिन तक पूजा की जाती है और उनक अनरूप सभी जगह नियम अनुसार कार्येकर्म किया जाता है मुख्य तोर महारास्ट्र के मुंबई शहर गणपति महोस्तवे के रूप म बनाया जाता है जिसमे बड़ी  बड़ी  मुर्तिया का भिटाई जाती है                                                                                                            श्री गणेश भगवान की सजावट। .;                                                     10 दिन पहले कुछ सजावट की जाती है साथ ही इसमें लाइट डेकोरशन और फ्लोवर्स  फूलों  दुवारा की जाती है जिससे व्हे मूर्ति बहुत सूंदर दिखाई देती है और जिसमे कहि जगहों पर फेस्टिवल देख़ने  को मिलते हैजगह जगह नए कार्येक्रम देख़ने को मिलता है साथ  ही गणेश जी दिन भोग वे मिटाया चढ़ाई जाती है  मुख्ये  तोर पैर श्री भगवान के रूप में गणेश  जी को शुभ  मन जाता है कोई भी काम शरू करने से पहले श्री गणेश को याद कियया जाता है फिर कार्य को आगे बढ़ाया जाता है ताकि सभी काम शुभ हो                                                                                                                                                                                                                                                                                   मूर्ति    विसर्जन प्रोग्राम                                                               
 श्री गणेश भगवान का सभी लोग एक जगह होकर अलग अलग स्थानों पर  मूर्ति विसर्जन करने क लिए जाते है किसी तालाब या कोई समुन्दर में मूर्ति विसर्जन करते है  इस कार्यक्रम में लोगो के दुवारा गुलाल डिज और इस्पीकर लगाकर मूर्ति विसर्जन क ल;िये जाते है और सभी कार्य कर्म शांति पुर्वेक  किया जाता है

No comments:

Post a Comment